केबीसी-२

अभी थोडी देर पहले कौन बनेगा करोड्पति-२ का पहला एपिसोड देखा..वही अमितभ बच्चन की अदाएं और निराले अन्दाज, कुछ अत्यंत मूर्खतपूर्ण तो कुछ ठीक य अच्छे प्रश्न और ढेर सारे पैसों की बरसात..
गौरतलब है कि इस धारावाहिक ने करीब पाँच साल पहले स्टर प्लस और अमितभ बच्चन के डूबते हुए कैरियर, दोनो को पटरी पर लाने मे महत्वपूर्ण भूमिका निभई थी..करोड्पति कितने बने ये तो पता नही पर स्टार प्लस भारतीय मध्यम वर्ग के ड्राइग रूम का हिस्सा बन गया..अमितभ बच्चन ने फिल्मों मे धमाकेदार वापसी की और आज की तरीख मे वे बालीवुड के तमाम युवा अभिनेताओं को जमकर टक्कर दे रहे है और अपनी "सरकार" चला रहे हैं...
और बात केबीसी-२ की ...तो भैया अमित जी का जादू तो कहीं जाने से रहा ...पर अपना मानना है कि जो मजा "पहली बार" में आता/होता है वो फिर दोबारा नही आता..और कम से कम फिल्मों के स्वीक्वेल का अपना तजुर्बा तो यही कहता है...सीरियल का क्या होता है ये राम जी जानें....वैसे वो कह ही रहे हैं कि
"Don't loose the hope is the moral of the story".....

Comments

मुझे याद है कि कौ. ब. क. की लोकप्रियता अपने ज़माने के सीरियलों (विक्रम-बेताल, ये जो है ज़िन्दगी इत्.) से कम नही थी। मैं के बी सी की ही वजह से अपनेर यहां स्टार टीवी लेने की सोच रहा हूँ। आशा है अ. ब. निराश नही करेंगे।

Popular posts from this blog

मैं

परिवर्तन

पता परिवर्तन सूचना